सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

महेंद्र सिंह धोनी जीवन परिचय और उनके जीवन से जुड़े कुछ अनजाने तथ्य#

महेंद्र सिंह धोनी जीवन परिचय और उनके जीवन से जुड़े कुछ अनजाने तथ्य# 
 महेंद्र सिंह धोनी जी हाँ,आप लोग में से ऐसे बहुत कम लोग होंगे जिन्होंने इनका नाम शायद ही न सुना हो.
                  पेशे से तो भारतीय क्रिकटेर एवं पूर्व भारतीय कप्तान तथा सबसे सफल एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कप्तान परन्तु भारत टीम के महानतम खिलाडियों की फेप्रशंसको में से एक इनका नाम भी सबसे ऊपर सुमार किया जाता है।

                     आने वाले कई वर्षों तक इस भारतीय क्रिकेट के  इतिहास में इनके कार्यों और देश के प्रति 14 सालों की सेवा को भारतीय खिलाड़ी ही क्या बल्कि कोई नही भूल सकता।।
महानतम कप्तानों में से एक, बेहतरीन विकेटकीपर, उम्मदा फिनिशर, आक्रामक बल्लेबाजी और बेहतरीन नेतृत्व के लिए ये हमेशा याद किये जायेंगे।

                       इतना ही नही इन्होंने क्रिकेट के साथ साथ सेना में भी अपनी सेवा देके हमारे भारत देश को गौरान्वित किया है।
भारतीय क्रिकेट इतिहास में इन्होंने अपने साथी खिलाडियों के साथ मिलकर एवं अपने तेज एवं चालक दिमाग का उपयोग कर देश और विदेशी सरजमीं पर बहुत से ऐसे सुनहरे पल लाके दिये है जिससे हमारा सम्पूर्ण देश फक्र और गौरवशाली होने का सौभाग्य प्राप्त किया।   

महेंद्र सिंह धोनी (पूर्व कप्तान) अथवा लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र सिंह धोनी झारखण्ड, रांची के एक राजपूत परिवार में जन्मे पद्म श्री, पद्म भूषण एवं आदि से सम्मानित भारतीय क्रिकेटर हैं।
अपने कैरियर के शुरुआत में आक्रामक बल्लेबाज़, प्रतिभाशाली खिलाडी एवं लंबे बालों के कारण ये मशहूर हुए। बाद में धोनी भारतीय किरकेट के सभी प्रारूपों के कप्तान बनाये गये एवं इनका स्वभाव बहुत ही शांतचित्त एवं धैर्यशाली था।
                                     उनकी कप्तानी में भारत ने पहली बार आयोजित हुए टी-20 विश्वकप 2007 में, 2007-08 में कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज , विगत 28 सालों के बाद एक बार फिर एकदिवसीय अंतरास्ट्रीय क्रिकेट 2011 में विश्व चैंपियन एवं पुनः 2013 में आई सी सी चैंपियंस ट्रॉफी का ख़िताब भी अपने नाम कर अपने देश का परचम पुरे विश्व में लहराया।
                  इतना ही नही इसके अतिरिक्त उन्होंने ऐसे कई सारे व्यक्तिगत ख़िताब भी अपने नाम किये ,जैसे- २००८ में आईसीसी वनडे प्लेयर ऑफ़ द इयर अवार्ड (प्रथम भारतीय खिलाड़ी जिन्हें ये सम्मान मिला), राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार और २००९ में भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान, पद्म श्री पुरस्कार साथ ही २००९ में विस्डन के टेस्ट टीम 11 में इनको कप्तान का दर्जा भी दिया गया।

              Personal Information

◆ नाम                             महेंद्र सिंह धोनी
◆ उपनाम            माही, थाला, कैप्टेन कूल, एमएसडी
◆जन्म                          07 जुलाई 1981 (रांची)
◆बल्लेबाजी शैली            दायें हाथ के बल्लेबाज
◆गेंदबाजी शैली              दायें हाथ से मध्यम गति के
◆भूमिका                     विकेटकीपर, बल्लेबाज

           धोनी लगातार दूसरी बार क्रिकेट विश्व कप 2015 में भारत का नेतृत्व किया और पहली बार भारत ने सभी ग्रुप मैच जीतने के साथ विश्व कप में लगातार 11 मैच जिताने वाले पहले भारतीय कप्तान बने।
धोनी दुनिया के पहले ऐसे कप्तान बन गये जिनके पास आईसीसी के सभी कप है।
धोनी ने ४ जनवरी २०१७ को भारतीय एकदिवसीय और टी20 इंटरनेशनल टीम की कप्तानी छोड़ी। इससे पूर्व वो 2014 में ही अपने टेस्ट कैरियर को अलविदा कह चुके थे।

                  International career

●राष्ट्रीय पक्ष                            भारतीय
●टेस्ट में डेब्यू              2 दिसम्बर 2004 vs श्रीलंका
●अंतिम टेस्ट         26 दिसम्बर 2014 vs ऑस्ट्रेलिया
●वनडे डेब्यू          23 दिसम्बर 2004 vs बांग्लादेश
●टी20ई डेब्यू     1 दिसम्बर 2006 vs साउथ अफ्रीका
●जर्सी नं                            7
●घरेलू आईपीएल टीम      चेन्नई सुपरकिंग्स(3 ट्रॉफी)

Family: 

 महेंद्र सिंह धोनी का जन्म रांची में एक मध्यम वर्गीय राजपूत परिवार में हुआ। उनकी माता का नाम श्रीमती देवकी देवी एवं पिता का नाम श्री पान सिंह है।धोनी की एक बहन, जिनका नाम जयंती और एक भाई, जिनका नाम नरेन्द्र है। बड़े भाई राजनीती में और बहन जयंती गुप्ता एक शिक्षिका हैं।
धोनी को उनके फैंस और उनके दोस्त आदि लोग माही के नाम से पुकारते हैं जो की मशहूर है, इसके अलावा कैप्टेन कूल, थाला आदि के नाम से भी माही जाने जाते हैं।


4 जुलाई 2010 को धोनी ने अपने घर रांची में साक्षी रावत के साथ शादी के बंधन में बन्ध गये। हालाँकि उनकी बायोपिक फिल्म 'एम एस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी जो कि हाल ही में निधन हुए मशहूर एवं प्रतिभावान कलाकार सुशांत सिंह राजपूत ने बखूबी उनके रोल को पर्दे पर उतारा है, में बताया गया है कि वह एक होटल में बतौर ट्रेनी का काम करती थी,इनकी पहली मुलाकात यही पर हुयी और फिर उनको धोनी से प्यार हो गया, कुछ समय तक छुप छुप के मिलने के बाद आखिरकार इन दोनों ने शादी करने का निर्णय ले लिया, और शादी कर ली।
                       

 वैसे तो दर्शकों को क्रिकेट जगत के प्रेमी ये मानते और जानते भी हैं कि धोनी और साक्षी की केमिस्ट्री काफी लाजवाब है। धोनी जब भी मैदान में खेलते हैं तो साक्षी उनका मैच खासतौर से आईपीएल में साक्षी उनका मैच देखने व पति का मनोबल और हौंसला बढ़ाने के लिए हमेशा मौजूद रहती हैं। वर्ष 2015 में धोनी जब विदेशी दौरे पर थे तब उनके घर एक नन्ही सी बच्ची ने जन्म लिया, जिनका नाम 'जीवा धोनी' है धोनी अपनी बेटी जीव को बहुत प्यार करते हैं जैसा की हमने बहुत बार सुर्ख़ियों में रहे पिता और बेटी की मस्ती को बखूबी पढ़ा और देखा भी है।
             
                                  पहले धोनी के बाल बहुत लम्बे हुआ करते थे जो अब उन्होंने कटवा दिए हैं क्योंकि वह अपने पसंदीदा एक्टर जॉन अब्राहम की तरह दिखना चाहते थे एवं क्रिकेट में वह एडम गिलक्रिस्ट के प्रशंशक तथा वह गायिका लता मंगेशकर जी के भी प्रशंशक हैं।
                              धोनी द ए वी जवाहर विद्यालय मंदिर, श्यामली में पढ़ते थे जो की रांची में स्थित है। उनकी प्रारम्भिक शिच्छा यही से हुयी।धोनी को शुरू से बैडमिंटन और फुटबॉल इन दोनों खेलों मे विशेष रुचि थी। इंटर-स्कूल प्रतियोगिता में, धोनी ने इन दोनों खेलों में स्कूल का प्रतिनिधित्व किया था। तथा वह अपने फुटबॉल टीम के लिए गोलकीपर भी रह चुके हैं!! और शायद यही से उनके विकेटकीपर बनने की कौशल की पहचान हुयी।दसवीं कछा के बाद ही धोनी ने क्रिकेट की ओर विशेष ध्यान दिया और बाद में तो पूरा जग जाहिर है कि महेंद्र सिंह धोनी जुगनू नही बल्कि आसमान के गगनचुम्बी सितारे हैं।

 Playing style: 

 धोनी एक आक्रामक दाएं हाथ के बल्लेबाज और विकेटकीपर है। तथा कभी कभी वह दायें हाथ से मध्यम गति से गेंदबाजी भी करते हैं और उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में खेलते हुए अपना पहला विकेट जाने माने खिलाड़ी केविन पीटरसन का ही लिया था।धोनी उन विकेटकीपरों में से एक है जो पलक झपकते ही विकेट के आगे खड़े अच्छे अच्छे बल्लेबाजों का खेल बिगाड़ देते हैं..धोनी ज्यादातर बैकफ़ुट में खेलने के लिए तथा वे बहुत तेज़ गति से बल्ला चलाते है, जिसके कारण गेंद अक्सर गोली की रफ्तार से सीमा रेखा को बिना छुये वापस नही आती। उनकी सभी खासियत में से सुमार एक ये भी है कि वो गगनचुम्बी और बहुत लंबे लम्बे छक्के मारते हैं जिसके दर्शक बड़े दीवाने हैं। रनों की गति को तेज करना हो, विकेट पर टिक के खेलना हो, स्तिथि कोई भी हो बस आप एक बार महेंद्र सिंह धोनी को बुला लीजिये।

                 Career score

★प्रतियोगिता           टेस्ट     वनडे    टी20अं   टी20
■मैच                   90       341        98        302
■रन                 4,876   10,500   1,617      6205
■100/50s          6/33    10/71       0/2    0/24
■औसत            38.09     50.72    37.60   38.54
■कैच/स्टम्प   256/38  314/120  159/78 364/57
■उच्च स्कोर        224     183*         56        84*
■गेंद किया            96        36          –          12
 
             हालाँकि धोनी के इंटरनेशनल क्रिकेट का शुरुआती दौर थोड़ा उतार चढ़ाव भरा रहा किन्तु फिर इन्होंने हार नही मानी और इन्होंने दुनिया को बता दिया की वो क्या चीज़ हैं। उनके हेलीकॉप्टर शॉट की दुनिया दीवानी है।
                                    2007 के बाद भारतीय टीम की कमान बोर्ड के द्वारा उनके हाथों में सौंप दी गयी, उसके बाद उन्होंने भारतीय टीम को नई बुलंदियों तक पहुँचाया।अपनाए। भारतीय क्रिकेट टीम में अपने पर्दापण से आज तक, धोनी की आक्रामक बल्लेबाजी की शैली, लंबे बालों, शांत स्वभाव, आपसी खिलाड़ियों से बढ़िया तालमेल, और मैदान पर सफल नेतृत्व ने उन्हें भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय खिलाड़ी होने पर मजबूर कर दिया।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भारत की जनगणना 2011 का संपूर्ण GK ज्ञान

  भारत की जनगणना 2011 का संपूर्ण GK ज्ञान  -                         भारत की जनगणना- 2011 भारत में जनगणना की शुरुआत कैसे हुई - भारत में जनगणना की शुरुआत 1872 में लॉर्ड मेयो ने शुरू की थी।भारत में नियमित जनगणना की शुरुआत 1881 ईस्वी में लार्ड रिपन के कार्यकाल में हुई थी 1881 ईस्वी में जनगणना आयुक्त W.W पलोडन वही स्वतंत्र भारत के पहले जनगणना 1951 ईसवी के समय जनगणना आयुक्त आर .ए गोपालस्वामी (1949- 53) ईस्वी थे। आधुनिक विश्व में सर्वप्रथम व्यवस्थित रूप से जनगणना कराने का श्रेय स्विडेन को है,जहां 1749 ईस्वी में पहली बार जनगणना कराई गई थी दशकीय जनगणना की शुरुआत 1790 ईसी.से अमेरिका में हुई। 1801 ईस्वी में इंग्लैंड में जनगणना प्रारंभ हुई थी। भारत में जनगणना - भारतीय संविधान की धारा 246 के अनुसार देश की जनगणना कराने का दायित्व सरकार को सौंपा गया है या संविधान की सातवीं अनुसूची की क्रम संख्या 69 पर अंकित है जनगणना संगठन केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन कार्य करता है जिसका उच्चतम अधिकारी भारत का महापंजीयक एवं जनगणना आयुक्त होता है यह देश भर में जनगणना संबंधी कार्यों को निर्देशित करता है तथ

भारत के प्रमुख शेयर बाजार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से जुड़े GK ज्ञान-

                       भारत के प्रमुख शेयर बाजार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से जुड़े GK ज्ञान- १. राष्ट्रीय शेयर बाजार(National stock market) :  भारत की प्रमुख  शेयर बाजार राष्ट्रीय शेयर बाजार की स्थापना सन 1991 में फेरवानी समिति ने की थी 1992 में सरकार ने भारतीय औद्योगिक विकास बैंक(IDBI) को इस बाजार की स्थापना का कार्य सौंपा आईडीबीआई ही राष्ट्रीय शेयर बाजार का प्रमुख प्रवर्तक है राष्ट्रीय शेयर बाजार(NSE)की प्रारंभिक अधिकृत पूंजी ₹250000000 है इसका मुख्यालय दक्षिण मुंबई में वर्ली में है। २. ओवर  दी काउंटर एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया(OTCEI) - इसकी स्थापना नवंबर 1992 में मुंबई में की गई थी या भारत में सर्वप्रथम ऑनलाइन ट्रेंडिंग सुविधा संपन्न कंप्यूटराइज्ड एक्सचेंज नैस्डेक के आधार पर की गई है। ओटीसीईआई में उन कंपनियों को सूचीबद्ध किया गया है जिनकी पूंजी का अस्तर 3000000 रूपए से ₹250000000 तक को स्टॉक एक्सचेंज में 49% विदेशी निवेश की अनुमति है इसमें विदेशी प्रत्यक्ष निवेश एफडीआई अधिकतम 26% तथा शेष 23% संस्थागत विदेशी निवेश एफ आई आई हो सकता है। न्यू यॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध भारत क