मनाली में घूमने की सुंदर स्थान#

मनाली में घूमने की सुंदर स्थान#


मनाली- यह कुल्लू घाटी के उत्तरी छोर के निकट व्यास नदी की घाटी में स्थित, भारत के हिमाचल प्रदेश राज्य की पहाड़ियों का एक महत्वपूर्ण एवं आकर्षक पर्वतीय स्थल हिल स्टेशन है जो कि उत्तराखंड में स्थित है, तथा यह कुल्लू से मात्र 40km की दूरी पर है यह जगह सर्दियों एवं गर्मियों दोनों के लिए ही बहुत ही अच्छा एवं उपयुक्त स्थान है क्योंकि यहां सर्दियों में तो बर्फ गिरती ही है परंतु जब गर्मियों में भी शहरों में भीषण गर्मी होती है तब भी यहां पर सुहाना एवं लुभाने वाला मौसम बना रहता है यह जगह भारत में सबसे ज्यादा घूमने जाने वाले पर्यटक स्थलों में से एक  है। मनाली घाटी नदियों, पहाड़ों एवं एडवेंचर एक्टिविटीज के लिए बहुत प्रसिद्ध है यहां पर देश-विदेश से लोग छुट्टियां मनाने, स्नोफॉल देखने स्कइंग करने एवं पर्वतों की चढ़ाई करने के लिए आते हैं। यह जगह देवदार के जंगलों से घिरा है जिसके कारण यहां का नजारा अत्यंत ही मनोरम एवं विचित्र है, जैसा कि आपने लोगों से सुना और बहुत सारी फिल्मों में देखा भी फिल्मों में देखा भी होगा,
          जब आप कुल्लू मनाली हैं ,तो यहां मनाली की लोकल मार्केट में जरूर घूमे, यहां पर आपको हिमाचल की संस्कृति की झलक  देखने को मिल जायेगी। यहां पर आप खरीदारी तो कर ही सकते हैं साथ साथ हिमांचल के पारंपरिक तरीके से बने घरों को देख सकते हैं यहां पर स्थानीय भोजन का मजा ले सकते हैं और या कि सवारि भी कर सकते हैं
 यहां पर बर्फ से ढके पहाड़ हैं बहती नदी है और बेहद खूबसूरत वादियां भी हैं मनाली अपने स्थानीय वातावरण एवं भारतीय संस्कृति तथा भारत की गौरवमई विरासत की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है मनाली को लोक देवताओं की घाटी अथवा धरती का स्वर्ग भी कहते हैं
 मनाली नव दंपतियों के लिए भी घूमने के लिए एक अच्छा एवं पसंदीदा स्थान है और हर वर्ष यहां पर बहुत सारे नए जोड़े घूमने और छुटियों का लुत्फ़ उठाने आते हैं।

कब जाएँ-
 अगर आप स्नोफॉल एवं गिरती बर्फ का मजा लेना चाहते हैं, स्नोफॉल लवर हैं या फिर स्नोफॉल में स्किंइग करना चाहते हैं तो आपके लिए जनवरी से लेकर मार्च तक का महीना मनाली जाने के लिए सबसे उपयुक्त रहेगा, क्योंकि इस महीने के बीच में मनाली में जमकर स्नोफॉलिंग होती है और इसमें आप स्नोफॉल की सभी एक्टिविटीज एवं जबरदस्त लुत्फ़ उठा सकते हैं। इन सभी चीजों का आनंद उठाने के लिए आपको सोलांग वैली जो कि मनाली से 30km की दुरी पर है, सबसे उपयुक्त स्थान है। पहाड़ो से घिरी बर्फ एवं स्नोफालिंग के बीच जनवरी से मार्च तक का महीना हनीमून कपल्स के लिए भी एक यादगार एवं अच्छा स्थान है।
                                               इसके अतिरिक्त पैराग्लाइडिंग करके आप ठंडी ठंडी हवाओं का भी मजा ले सकते हैं।
अब बात आती है अप्रैल से लेके जून, जो एडवेंचरर लवर अथवा जो बहुत पसंद करते हैं और अपने लेवल को और बढ़ाना चाहते हैं उनके लिए मनाली इन महीनों के बीच में घूमना बहुत अच्छा रहता है पानी में राफ्टिंग करना जो की बहुत थ्रिल भरा होता है अतः थ्रिल लवर्स के लिए व्यास नदी में राफ्टिंग एक बहुत ही अनोखा अहसास होगा। इसके अतिरिक्त स्नोट्रैकिंग का भी मजा ले सकते हैं क्योकि इन महीनों के बीच में बर्फ बहुत फ्री रहती है रिवर क्रॉसिंग रॉक क्लाइंबिंग एवं कैंपिंग का भी मजा आप अप्रैल से जून तक के महीने के बीच उठा सकते हैं
                                   जुलाई से लेकर अक्टूबर तक का महीने के बीच में आपको पैराग्लाइडिंग एवं राफ्टिंग का मजा नहीं ले सकते है क्योंकि उस समय में यह आधिकारिक रूप से पूर्णतया बंद रहता है पर कई जगहों पर फिर भी यह एक्टिविटीज़ सितम्बर के आधे महीनों तक बंद रहती है पर इसका यह मतलब नहीं है कि आप मनाली है और आप अपने टूर का मजा नही ले सकते क्योकि आप कैंपिंग और यहाँ की भारतीय संस्कृति एवं कला आदि का भी दीदार कर सकते हैं
अब बात करते हैं 15 सितंबर एवं 1 अक्टूबर के बीच के महीनों की की महीनों की इन महीनों के बीच में जैसा कि मनाली को को देवताओं की भूमि कहा जाता है अतः ऐसे लोग जो बहुत ही धार्मिक प्रवृति के हैं वह कुल्लू दशहरा जो कि अंतर्राष्ट्रीय मेला मेला अंतर्राष्ट्रीय मेला मेला है उस का आनंद उठा सकते हैं आनंद उठा सकते हैं कुल्लू दशहरा विशेषता अक्टूबर के महीनों में 7 दिन के लिए
                                     मनाया जाता है यह भारत के सभी दशहरों के मेलों से अलग है क्योंकि यह पूरे 7 दिनों के लिए में मनाया जाता है।
 अब बात करते हैं नवंबर और दिसंबर के महीनों की इस महीनों में आप वो सारी एक्टिविटीज कर सकते हैं जो की आप गर्मियों में करते हैं पैराग्लाइडिंग ड्राफ्टिंग आदि, क्योकि इन महीनों में और अन्य महीनों की अपेछा स्नोफालिंग की सम्भावनाये ज्यादा रहती है और आप सारी स्नो एक्टिविटीज कर सकते हैं और अपने यात्रा का भरपूर आनंद उठा सकते हैं।

कैसे जायें-

 मनाली हिल स्टेशन स्टेशन है जहां पर कोई बस या ट्रेन सीधे नहीं जाती, इसके लिए आपको ट्रेन अथवा बस की सहायता से नजदीकी रेलवे स्टेशन अथवा दिल्ली या चंडीगढ़ होकर भी जा सकते हैं इसके बाद आप यहाँ दोनों जगहों से मनाली ट्रिप के लिए रवाना हो सकते हैं।
आपको दिल्ली से या चंडीगढ़ से मनाली तक के सफर का असली आनद उठाना हो तो आप वॉल्वो टाइप की बसों से ही यात्रा करें, इसके अतिरिक्त बहुत सारी निजी बसें अथवा हिमांचल प्रदेश की राज्य परिवहन विभाग द्वारा बहुत से ऐसी बसों का संचालन कराती हैं जो आपको दिल्ली से मनाली तक 12-15 घण्टों में आपको आसानी से पहुँचा देती है।
अगर आप वाया फ्लाइट का उपयोग कर पहुँचना चाहते हैं तो इसके लिए भी आपको नजदीकी एयरपोर्ट भुंतर तक के लिए फ्लाइट आपको दिल्ली अथवा मुम्बई से मिल जाएँगी।
मनाली में टॉप विजिटिंग प्लेसेस-
मनाली तो खुद ही अपने आप में एक आकर्षक जगह तो है ही अपितु मनाली में बहुत सारे ऐसे जगह भी हैं जो बहुत ही प्रसिद्ध एवं पर्यटन के हिसाब से बेहतरीन है। आइये उनमें से कुछ जगहों के बारे में हम आपको रूबरू कराते हैं और आशा करते हैं जब आप मनाली जाये तो जरूर लुत्फ़ ले....

हिडिम्बा

मनाली में स्तिथ एक ऐसी जगह जिसके बारे आपने सुना तो होगा ही, यह बहुत प्रसिद्ध मंदिर हैं यहां पर हर साल बहुत भारी संख्या में देश विदेश से बहुत से सैलानी से घूमने के लिए आते हैं गिरती बर्फबारी एवं देवदार के वृक्षों से घिरे इस मंदिर के खूबसूरती में चार चांद लग जाते हैं। पौराणिक कथाओं के अनुसार लोगों का मानना है कि महाभारत में हिरिमा देवी को जो की महाबली भीम की पत्नी थी, यह मंदिर उन्ही को समर्पित है।

★ रोहतांग दर्रा-

रोहतांग दर्रा जिसे लोग भृगु-तुंग के नाम से भी जानते हैं यह हिमांचल प्रदेश की विभिन्न दर्रों में से एक है जो बहुत प्रसिद्ध है।
       एडवेंचरर लवर्स के लिए यह जगह बहुत ही बढ़िया मानी जाती है एवं यह प्रतिवर्ष भारी संख्या में देश-विदेश से पर्यटक घूमने के लिए आते हैं, रोहतांग दर्रा मनाली से 46km की दुरी पर स्तिथ है एवं यह जगह अपने पुरे साल बर्फ से ढके हुए मौसम होने के कारण जानी जाती है! जून से लेकर नवम्बर तक के महीने के अंदर यहाँ पर विजिटिंग करना बहुत ही शानदार रहेगा!!

मनु मंदिर- 
   


 मनाली से लगभग 2-3km पुरानी मनाली है जो अपने स्थानीय बाजारों, जंगलों, स्थानीय घरों एवं पहले के समय के गेस्टहोसेस आदि के लिए प्रसिद्ध है, मनु मंदिर यही पर पास में ही स्थित है जो की महर्षि मनु के नाम पर पड़ा है। लोगों का कहना है कि यह मंदिर में महर्षि मनु ने ध्यान लगाया था व यहाँ पर उनके पादों के निशान है।

जोगिनी वाटरफॉल-
       

  जोगिनी वाटरफॉल हिमाचल प्रदेश में वशिष्ट मंदिर के पास एवं मनाली से 8-10km पर स्थित है। यह जगह बहुत ही शानदार एवं आकर्षक है पानी का बहता शोर, अद्भुत दृश्य, धारा की आवाज आदि सब कुछ एवं अगर आपको ट्रेकिंग बहुत पसंद है तो यकीन मानिए यह जगह आप के लिए बहुत ही अच्छी साबित होगी।

टिप्पणी पोस्ट करें

1 टिप्पणियां