Love shayari


 #तुम मिल गई तो मुझसे नाराज हैं खुदा, 
कहता है की अब तु कुछ मांगता ही नही। 

#उनकी नज़रों के कायल है हम, 
तभी उनकी चाहत में घायल हैं हम। 

#अक्सर हम उनका जिक्र किया करते हैं, 
तभी ख्वाबो में भी हम उनका फ़िक्र किया करतें हैं। 

#क्या लिखू तेरी हुसनें तारीफ मे ये मेरे चाँद, 
अल्फ़ाज़ कम पड़ रहें हैं तेरे मसूमियत के आगे। 








कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें